सोमवार, 31 दिसंबर 2012

2013 तुम्‍हें आखिर आना ही था


                                                                                            फोटो : राजेश उत्‍साही
नए साल में सबको सुख हो
नए साल में कोई न दुख हो
कहने   को कवि कह जाता
चाहे इसकी कोई न तुक हो
*
नए साल के नए हों सपने
नए साल में नए हों अपने
हम तो यह भी आशा करते
आततायी लगें डर से कंपने
*
नए साल का नया हो गाना
नए साल का नया हो बाना
हो सके तो आप भी कर लो
दिल का कोई नया ठिकाना
* 
नए साल में सबको सुरक्षा
नए साल में सब हो अच्‍छा
रोजगार मिले सब हाथों को
मिले हरेक बच्‍चे को शिक्षा
*
नए साल के नए संकल्‍प
नया साल दे नए विकल्‍प
प्रश्‍नों का तो अंत नहीं है
कुछ को तो कर पाएं हल
*
नए साल में नया तंत्र हो
नए साल में नया मंत्र हो
सब मिलकर करें कुछ ऐसा
सचमुच का तो लोकतंत्र हो
*
 नए साल की नई है भाषा
 नए साल में नई प्रत्‍याशा
 बेहतर टिकाऊ समाज की
गढ़नी है अब नई परिभाषा
                       
   0 राजेश उत्‍साही  


7 टिप्‍पणियां:

  1. मंगलमय नव वर्ष हो, फैले धवल उजास ।
    आस पूर्ण होवें सभी, बढ़े आत्म-विश्वास ।

    बढ़े आत्म-विश्वास, रास सन तेरह आये ।
    शुभ शुभ हो हर घड़ी, जिन्दगी नित मुस्काये ।

    रविकर की कामना, चतुर्दिक प्रेम हर्ष हो ।
    सुख-शान्ति सौहार्द, मंगलमय नव वर्ष हो ।।

    उत्तर देंहटाएं
  2. नए साल की नई है भाषा
    नए साल में नई प्रत्‍याशा
    बेहतर टिकाऊ समाज की
    गढ़नी है अब नई परिभाषा
    आमीन !!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. २०१३ के स्वागत का निराला अंदाज़ ...
    आपको नव वर्ष की मंगल कामनाएं ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. सच क्या नहीं सोचते ..ये होगा ..वो होगा ...पर होता वही है जो होना होता है .....फिर भी उम्मीद तो रहती है हर किसी को ...
    बहुत बढ़िया प्रस्तुति!
    नए साल की शुभकामना सहित ..

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत उम्दा,सुन्दर व् सार्थक प्रस्तुति

    मंगलमय हो आपको नब बर्ष का त्यौहार
    जीवन में आती रहे पल पल नयी बहार
    ईश्वर से हम कर रहे हर पल यही पुकार
    इश्वर की कृपा रहे भरा रहे घर द्वार.

    उत्तर देंहटाएं

गुलमोहर के फूल आपको कैसे लगे आप बता रहे हैं न....

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails