मंगलवार, 26 मार्च 2013

होली के सब रंग मुबारक



मारेंगे गोली,  देंगे दो ताली
जनता तो है भोली  भाली
भाड़ में जाए, गिरे कुएं में
   या करती रहे खामख्‍याली   

इसमें तो है हमें महारत 
होली के सब रंग मुबारक

बहाएं पानी,  लुढ़काएं पानी
आज कहें पर बात सयानी
सूखे रंगों से सब खेलें होली
और करें जी भरकर नादानी

हम ठहरे समाज सुधारक
होली के सब रंग मुबारक

इसको तकेंगे, उसको लखेंगे
गाली  का भी स्‍वाद चखेंगे
बिल लाओ संसद में कितने
हम तो कभी नहीं  सुधरेंगे

क्‍यों बिताएं जीवन अकारथ
होली के सब रंग  मुबारक
 
रंग की होली, भंग की होली
अमीर, गरीब, मध्‍यम होली
   आओ खेलें  सब मिलजुल   
  अपने तुपने सब हमजोली  

कुछ तो हों दुख  नदारद
होली के सब रंग मुबारक

      0 राजे त्‍साही

5 टिप्‍पणियां:

  1. मस्त फुहार!!

    होली की हार्दिक शुभकामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. होली के सभी रंगों को चित्रित करते हुए आपने सभी रंगों की बधाई दे दी। जिसे जो रंग पसंद हो चुन ले।

      हटाएं
  2. होली पर सुंदर रचना..शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  3. अनुपम रंग ... होली के
    शुभकामनाएं आपको होलिकोत्‍सव की

    उत्तर देंहटाएं

गुलमोहर के फूल आपको कैसे लगे आप बता रहे हैं न....

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails